विंडोज XP की एक्सेसरीज
[ Windows XP Accessories]
 परिचय (Introduction]
विंडोज XP आसानी से चलने वाले छोटे-2 प्रोग्रामों के साथ आता है, ये सभी समूह एक्सेसरीज की सामान्य Heading के अन्तर्गत आते है, जो कम्प्यूटर पर आपके समय को अधिक हंसी मजाक और उत्पादक बनाते है। इन प्रोग्रामों को applets भी कहते है क्योंकि ये छोटे और विशेष प्रोगाम होते हैं। यहां हम कुछ मूल एक्सेसरीज पर चर्चा करेगे।
पेन्ट [Paint]
आप अपनी मानसिक Image को पेन्ट का प्रयोग करके चित्र में बदल (transform) सकते हो। आप पेन्ट का उपयोग करके सुन्दर और रंग बिरंगी ड्राइंग का निर्माण कर सकते हो। आप अपने व्यवसायिक पत्रों के लिए लोगो (Logos) का निर्माण कर सकते हो, अपने क्लीप आर्ट बना सकते हो और अपने घर और कार्यालय के लिए भी चित्र पेन्ट कर सकते हो। यदि आप के बच्चे है तो वो इस पर घंटो व्यतीत कर सकते है और इसका प्रयोग करके अपनी कक्षा की रिपोर्ट के लिए चित्र बनाने में कर सकते है। पेन्ट को कैसे स्टार्ट करे ?
1. स्टार्ट बटन पर click करो।
2. सभी प्रोग्राम (All program) विकल्प पर click करो। 3. एक्सेसरीज विकल्प पर click करो।
4. पेन्ट पर click करो।
आपको एक स्क्रीन दिखाई देगी जैसी कि चित्र  में दिखाई गयी है।
पेन्ट में विभिन्न कार्य करने के लिए विभिन्न यंत्र (Tools) होते हैं। हम उन यंत्रो (Tools) पर चर्चा करेगे।
पेन्ट मे ड्राइंग करने के चरण है:
1. एक यंत्र (Tool) का चुनाव करो।
2. उस यंत्र के साथ उपलब्ध सभी विकल्पों को चुलो, जैसे की magnification, opeque या transparent drawing, ब्रश का आकार या लाईन की मोटाई।
3.एक फॉरग्राउंड (Foreground) और बैकग्राउंड (Background) रंग का चुनाव करो ।
4.डॉक्यूमेंट के जिस क्षेत्र (area) में आप ड्रॉ (Draw) करना चाहते हो माउस को यहां पर ले जाओ।
5. माउस को click करो और चयनित यंत्र (Tool) को खींचो (Drag).
यंत्र (Tool) का चुनाव करना
यंत्र (Tool) को चुनने के लिए उस पर click करो।
रंग (Colour) का चुनाव करना
1.फॉरग्राउंड (Foreground) रंग का चुनाव करने के लिए, colour box में रंग पर click करो।
2. बैकग्राउंड (Background) रंग का चुनाव करने के लिए; colour box में रंग पर Right click करो।
 वर्ड पैड [Word Pad]
वई पैड एक वर्ड प्रोसेसर है। वह पैड का प्रयोग पर आधारित सूचनाएं (Textual information) जिसमें यइपिंग, संपादन, फार्मेटंगा और प्रिंटिंग शामिल है की प्रक्रिया में होता है। वर्ड पैड नोट पेड़ से ज्यादा और MS Word से कम ताकतवर होता है। स्पेलिंग ठीक की जाती है और वई को सुन्दर दिखाया जाता है। Paint को खोलने की प्रक्रिया को आप सब अच्छी तरह जानते है उसी तरह आप वर्ड पैड भी खोल सकते है।
वर्ड पैड़ को कैसे स्टार्ट करे ?
1 स्टार्ट बटन पर click करो।
2 सभी प्रोग्राम (All program) विकल्प पर click करो ।
3 एक्सेसरीज विकल्प पर click करो।
4. वर्ड पैड पर click करो
आपको एक स्क्रीन दिखाई देगी जैसी कि चित्र  में दिखाई गयी है।
वर्ड पैड के तत्व है:
1. टाईटल बार (Title Bar)
2. मेन्यु बार (Menu Bar)
3. स्टैण्डर्ड टूलबार (Standard Toolbar): मेन्यु बार से आगे आपको कुछ बटनो के साथ एक बार दिखाई देगी जो मेन्यु विकल्पो का शार्ट कट (shortcut) है। यह बार स्टैंडर्ड टूलबार कहलाती है।
4.फार्मेट टूलबार (FormatToolbar) इसमें टेक्स्ट को फार्मेट करने के लिए बटन होते है।
5.रुलर (Ruler) यह एक मापक यंत्र है। रुलर को आन (On or off) या ऑफ.  (Off) करने के लिए View menu को चुनो और फिर Ruler पर click करो
6. स्टेट्स बार (Statua bar) यह Task से संबंधित सूचना दिखाती है।
मूल कार्य [Basic Operations]
1.टेक्स्ट का प्रवेश करना (Entering text)
 (a) जहां पर आप टाईपिंग स्टार्ट करना चाहते हो वहां पर insertion पाइंट रखो।
(b) टेक्स्ट डालो (Enter). लाईन खत्म हो जाएगी ऐसा सोचकर घबराने की जरूरत नहीं है, जितनी बार insertion पाइंटर Right margin से आगे जायेगा वर्ड प्रोसेसर insertion पाइंटर को हर बार नयी लाईन पर ले आएगा।
(c) पैराग्राफ को खत्म करने के लिए Enter key दबाओ।
टेक्स्ट का चयन कराना (Selecting text)
(a) कॉलम (विंडो की वायी तरफ) पर पाइंट (Point) रखो और निम्नलिखित चरण अपनाओ।
Click÷लाईन का चयन करने के लिए
डबल Click÷पैराग्राफ का चयन करने के लिए।
Ctrl को दबाओ और click करो÷ संपूर्ण डाक्यूमेंट का चयन करने के लिए
(b) किसी चयन को नष्ट (Cancel) करने के लिए उसके बाहर की तरफ (Outside) click करो।
(C) लाईन या पैराग्राफ का चयन करने के उस पर Drag करो।
3.Characters पर Style लागू करना (Applying styles to characters)
(a) टेक्स्ट का चुनाव करो जिसे फार्मेटिंग की आवश्यकता है।
(b) फार्मेट टूलबार पर उपलब्ध जिस style को आप apply करना चाहते हो उसके अनुरूप बटन पर click करो
4.फॉण्ट या साईज को बदलना (Changing the Font/ Size)
(a) टेक्स्ट विषय (Text concerned) का चुनाव करो। (b) फार्मेट टूलबार में फॉण्ट Drop-Down सूची को खोलो और जिसे आप Apply करना चाहते हो उस फॉण्ट का चयन करो।
(c) साईज का चयन करो।
5. Characters पर रंग लागू करना (Applying colour to characters)
 (a) Characters को चयनित करो।
 (b) रंग बटन पर click करो, फिर अपनी पसन्द के रंग का चुनाव करो।
डॉक्यूमेंट को सेव करना (Save Document)
(a) फाईल मेन्यु का चुनाव करो
(b) Save as पर click करो।
(c) फाईल का नाम टाईप करो और सेव पर click करो।
कैल्क्यूलेटर [Calculator]
कैल्क्यूलेटर एक पूर्ण गंणक (calculation) यंत्र है। कैल्क्यूलेटर विंडो में, एक टाईटल बार एक मेन्यु बार, एक आयातकार (rectangular) खाली (blank) जगह जिसमे सभी नम्बर दिखाये देते हैं, नम्बर के साथ बटन या कुछ कार्य (operators) (+,-,*,/) जिन्हें आप गणना कार्य में प्रयोग कर सकते हैं सम्मलित होते हैं।
कैल्क्यूलेटर को कैसे स्टार्ट करते है ?
1. स्टार्ट बटन पर click करो
2. सभी प्रोग्राम (All program) विकल्प पर click करो।
3. एक्सेसरीज विकल्प पर click करो ।
4.कैल्क्यूलेटर पर click करो ।
कैल्क्यूलेटर के प्रकार
कैल्क्यूलेटर दो प्रकार के होते हैं:
(a) स्टैंडर्ड (Standard ) यह सरल गणना (calculation) करने के लिए प्रयोग की जाती है।
(b) साईनटिफिक (Scientific) यह साईनटिफिक गणना (calculation) करने के लिए प्रयोग की जाती है। कैल्क्यूलेटर की View मेन्यु में स्टैंडर्ड या साइंटिफिक विकल्प को चुनो।
सामान्य गणना (calculation) में प्रयोग होने वाले चरण :
1. गणना (calculation) में पहला नम्बर डालो।
2. जोड़ने के लिए + पर, घटाने के लिए पर, गुणा करने के लिए * पर और भाग करने के लिए / पर क्लिक करे।
3. गणना (calculation) में अगला नम्बर डालो।
4.परिणाम देखने के लिए = बटन पर click करो।
नोट पैड [Note Pad]
नोट पैड छोटी टेक्स्ट फाईल को लिखने और पढ़ने के एक छोटा टेक्स्ट संपादक (editor) है। आप नोट पैड का प्रयोग उन टेक्स्ट फाईल का निमार्ण और संपादक करने के लिए कर सकते हो जिन्हें फार्मेटिंग की जरूरत नहीं होती और जो 64k से छोटी है
इन फाईलो में चित्र और अन्य object नहीं होते। नोट पैड का प्रयोग HTML फाईलो के लिए Source code editor के रूप में भी होता है।
नोट पैड को कैसे स्टार्ट करते हैं ?
1. स्टार्ट बटन पर click करो
2.सभी प्रोग्राम (All program) विकल्प
 पर click करो।
3. एक्सेसरीज विकल्प पर click करो।
4. नोट पैड पर click करो।
कन्ट्रौल पेनल (Control Panel) आईकन (icons) का एक समूह है जिसकी सहायता से आप आपके कम्प्यूटर से संलगित (attached) विभिन्न उपकरणों (Device) की सैटिंग को बदलता है। हम पेनल में उपलब्ध कुछ विकल्पों का अध्ययन करेगे। कन्ट्रोल
Note: कन्ट्रोल पेनल के उपयोग
1.कम्प्यूटर से प्रोग्राम जोडने (Add) या समाप्त (Remove) करने के लिए।
2. हार्डवयर उपकरण को जोड़ने (Add) या समाप्त (Remove) करने के लिए।
3.विभिन्न उपकरण जैसे की प्रिन्टर, मोहम, की-बोडे, माउस आदि की प्रोपर्टी (Properties) को सेट करना और उन्हें नया रूप देना। Display properties जैसे की वॉलपेपर, स्क्रीन सेवर आदि को सेट करना।
4.विभिन्न यूजर सैटिंग को व्यवस्थित करना।
5.तारीख और समय को सेट करना।
कन्ट्रौल पेनल (Control Panel) के दो विभिन्न व्यू है:
 (a) क्लासिक व्यू (Classic View): यह कन्ट्रौल पेनल (Control Panel) विंडो को क्लासिक विंडो स्टाइल में प्रेजेन्ट करता है।
(b) कैटेगरी व्यू (Category View) : कैटेगरी व्यू विकल्पो को अलग -2 विभिन्न कैटेगरीयों के अन्तर्गत सामूहित (Groups) करता है।
      आप व्यू को कन्ट्रौल पेनल विंडो के बाये भाग से बदल (Switch) सकते हो।
 कन्ट्रौल पेनल को ऐक्सेस करना [Accessing Control Panel]
कन्ट्रौल पेनल को कैसे स्टार्ट करते है ?
 1. स्टार्ट पर Click करो।
 2. कन्ट्रौल पेनल आईकन पर Click करो ।
कन्ट्रौल पेनल के विभिन्न विकल्प चित्र  में दर्शाए गये है।
 ऐक्सेसीबिलिटी विकल्प [Accessibility Option]
यह विकल्प आपको अपने सिस्टम के कई विकल्पों (जैसे की-बोर्ड, साउंड, Display, माउस आदि के विकल्पों) को
बदलने में सहायता करता है। उदाहरणतया की बोर्ड के लिए उपलब्ध विकल्पों को प्रयोग करके Shift, Del and Alt आदि के लिए एक ही Key का प्रयोग कर सकते हो।
 साउंड, Display, और माउस के लिए भी इसी तरह के
विकल्प प्रयोग किए जा सकते है।
नया हार्डवेयर जोड़ना [Add New Hardware]
इस विकल्प का प्रयोग नये हार्डवेयर को जोड़ने के लिए किया जाता है। Add New Hardware Wizard आपको, सिस्टम में नया हार्डवेयर को जोड़ने की प्रक्रिया को आसान बनाता है। यह विजार्ड फाईल के पंजीकरण (Registry) और बनावट (Configuration) में स्वयं ही उचित बदलाव करता है, जिस कारण से विंडो नये हार्डवेयर की पहचान व जांच कर सकती है।
(a) प्लग और प्ले सुविधा द्वारा उपकरण को स्थापित (Install) करने के लिए निम्न चरणो का अनुसरण (Follow) करो :
1.कम्प्यूटर को Turm off करो।
2.निमार्ता के निर्देशों के अनुसार नये उपकरणों को Connect करो।
3.कम्प्यूटर को Turn off करो विंडो नये हार्डवेयर का स्वयं ही पता लगा लेगी और आपके लिए उचित सॉफ्टवेयर को स्थापित (Install) कर देगी।
(b) प्लग और प्ले सुविधा के बगैर उपकरण को स्थापित (Install) करने के लिए निम्न चरणों का अनुसरण (Follow) करो।
1.कम्प्यूटर को Turn off करो।
2.निर्माता के निर्देशों के अनुसार नये उपकरणों को Connect करो।
3.कम्प्यूटर को Tum off करो।
4.Add Hardware Wizard को खोलने के लिए स्टार्ट कन्ट्रोल पेनल और फिर Add New hardware icon पर click करो Next बटन पर click करो
अपनी पसन्द का चुनाव करो और दर्शाए गये निर्देशों का अनुसरण (Follow) करो।
 प्रोग्राम को जोड़ना या समाप्त करना [Add / Remove Programs]
इस विकल्प का प्रयोग हार्ड डिस्क में से प्रोग्राम को स्थापित (Install) या समाप्त (Remove) करने के लिए किया जाता है। ज्यादातर सॉफ्टवेयर प्रोग्रामो के अपने सॉफ्टवेयर में ही स्थापना (Install) निर्देश (Command) होते है। किसी प्रोग्राम को समाप्त (Rernove) के लिए इस का प्रयोग अधिक होता क्योंकि आपको उस सॉफ्टवेयर के साथ जुड़ी हुई फाईल के बारे में नहीं पता होगा जिसे समाप्त (Removed) करना है। यह विंडो विन्यास (configuration) मे सॉफ्टवेयर की विभिन्न प्रविष्टयों (Entries) को भी समाप्त (Remove) कर सकता है।
(a) नया प्रोग्राम स्थापित (Install) करना (Install a new program)
 एक नये प्रोग्राम को स्थापित (Install) करने के लिए Add/Rmeove Programs Applet का प्रयोग करो जिसके चरण निन्न है
1. स्वर्ट, कन्ट्रौल पेनल और Add/ Remove Programs पर click करो।
2.बाये Pane से Add new programs पर क्लिक करो।
3.CD या फ्लॉपी ये सॉफ्टवेयर स्थापित (Install) करने के लिए पर click करो।
(iv) CD या फ्लॉपी एप्लीकेशन प्रोग्राम को उचित ड्राइव में डालों और स्थापना (Install) का संदेश देखने के लिए Next बटन पर click करो।
(v) स्थापना प्रक्रिया (Installation Process) को जारी रखो। अन्त में Finish बटन पर click करो।
(b) एक प्रोग्राम को Uninstall करना (Uninstall a program)
पहले से विद्यमान (existing) प्रोग्राम को Uninstall करने के चरण निम्न है।
(i) स्टार्ट कन्ट्रोल पेनल और Add / Remove Programs पर click करो
 (ii) बाये Pane से  पर click करो।
(b) जिन प्रोग्रामों को uninstall करना है उनकी सूची स्कीन की दायें तरफ दिखाई देगी।
(iv) चयनित प्रोग्राम को बदलने या समाप्त (Rernove) करने के लिए change or remove icon पर click करो।
 प्रोग्राम को समाप्त (Remove) करने से पहले आप को एक चेतावनी संदेश दिखाई दे सकता है।
 तारीख / समय [Date / Time)
यह विकल्प आपको सिस्टम की तारीख और समय की सैटिंग को बदलने में सहायता करता है। आप समय को बदलने के लिए घण्टों (Hours), मिनटों (Minutes) और सैकेंडों (Seconds) को भी बदल सकते हो।
तारीख / समय को बदलने के चरण है।
1. स्टार्ट कन्ट्रोल पेनल और Date and Time पर Click करो।
2.Date Frame में अपनी पसन्द का महीना, साल और तारीख लिखो।
3. Time Frame में अपनी पसन्द का 35
समय लिखो।
4. अन्त में OK पर Click करो।
डिस्पले प्रोपर्टीयां [Display Properties]
इस पेनल का प्रयोग करके आप अपने डिस्पले मॉनीटर की सैटिंग बदल सकते हो। Object स्क्रीन पर कैसा दिखे, इसे आप रंग, फॉण्ट, पैटर्न, या अन्य तत्व में बदलाव करके नियंत्रित कर सकते हो।
डिस्पले विंडो को खोलने के चरण (Steps) है
1. स्टार्ट बटन पर click करो।
2.कन्ट्रोल पेनल (Control Panel) पर click करो।
3. डिस्पले (Display) पर click करो।
डिस्पले प्रोपर्टी विंडो दिखाई देगी जैसा कि चित्र  में दिखाई देगी। डिस्पले डायलॉग बॉक्स का प्रयोग करके हम Themes, डेस्कटॉप, स्क्रीन सेवर (Screen Saver), Appearance and Setting को Set कर सकते हैं। हम प्रत्येक विकल्प का बारी बारी से अध्ययन करेगे।
टिप्पणी: आप Display Properties डायलॉग बॉक्स को निम्नलिखित वरणो के द्वारा भी  खोल सकते हो।
1.डेक्स्टाप के blank area पर Right click करो
2.एक Pop-up मेन्यू दिखाई देगा। इस मेन्यू में Properties विकल्प पर click करो
      Display Properties डायलॉग बायस दिखाई देगा। जैसा कि चित्र में दिया गया है।
थीमस विकल्प [Themes Option]
डेस्कटॉप थीम (Theme) को बदलने के लिए Display Properties डायलॉग बाक्स पर बनी थीम (Theme), टेब (Tab) का प्रयोग किया जाता है।
टिप्पणी: थीम (Theme) ग्राफिकल Properties का एक समूह है जो ऑपरेटिंग सिस्टम के visual Interface को नियंत्रित करता है। जब हम एक थीम को बदलते है तो डेस्कटॉप वालपेपर Icons, और डायलॉग बाक्स डेस्कटॉप थीम को Reflect करने के लिए स्वयं ही बदल जाता है।
डेस्कटॉप थीम (Desktop Theme) को बदलने के चरण (Steps) है
1.Display Properties विंडो को खोलो।
2.Themes Tab पर click करो।
3.थीम सूची (Themes List) में से इच्छित थीम (Themes) को चुनो। जैसा कि चित्र  में दर्शाया गया है। थीम (Theme) को बदलने के लिए Apply पर click करो प्रक्रिया (Process) को cancel करने के लिए Cancel पर click करो।
 डेस्कटॉप विकल्प [Desktop Option]
डेस्कटॉप वॉलपेपर को Customize करने के लिए डेस्कटॉप टेब (Tab) का प्रयोग किया जाता है।
टिप्पणी: वालपेपर या बैकग्राउंड (Background) चित्र है जो डेस्कटॉप बैकग्राउंड(Background) पर दिखलाया जाता है।
डेस्कटॉप स्क्रीन के वालपेपर को बदलने के लिए निम्नलिखित चरणो (Steps) का अनुसरण (follow)
करो:
1.  Display Properties विंडो को खोलो।
2.Desktop Tab पर click करो।
3 बैकग्राउंड सूची (Background List) में से इच्छित बैकग्राउंड (Background) को चुनो। जैसा
कि चित्र में दर्शाया गया है।
4. Position सूची मे से Display विकल्प को चुनो। 5.बैकग्राउंड (Background) को बदलने के लिए Apply पर click करो प्रक्रिया (Process) को cancel करने के लिए Cancel पर click करो।
 स्क्रीन सेवर विकल्प [Screen Saver Option]
जब कम्प्यूटर कुछ समय के लिए उपयोग में नहीं होता उस के बाद स्वयं ही एक स्क्रीन सेवर (Screen Saver) दिखाई देता है। आप समय खुद ही स्थिर (fix) कर सकते हो।
 डिस्प्ले स्क्रीन के स्क्रीन सेवर (Screen Saver) को बदलने के लिए चरण (Step) है:
टिप्पणी: स्क्रीम सेवर स्वंय ही चलता (Run) है जब हम अपने कम्प्यूटर को समय की एक खास अवधि के लिए प्रयोग नहीं करते जैसे तीन मिनट
1.Display Properties विंडो को खोलो।
2.  Screen Saver Tab पर click करो।
3. स्क्रीन सेवर सूची ( Screen Saver List) में से स्क्रीन सेयर (Screen Saver) को चुनो। जैसा कि चित्र  में दर्शाया गया है।
4. Waiting Time को Set करो।
5. स्क्रीन सेवर (Screen Saver) की सैटिंग को Setting बटन की सहायता से बदलो।
6.बदलावों को लागू करने के लिए OK बटन पर click करो
अपीयरेंस विकल्प [Appearance Option]
अपीयरेंस टेब (Appearance Tab) दिखाता है कि स्क्रीन कैसी दिख रही है। यह बदली जा सकती है।
 टिप्पणी:
अपीयरेंस का प्रयोग विंडोज और बटम, स्टाईल, colour scheme और object properties जैसे icon साईज फॉण्ट साईज आदि को बदलने के लिए किया जाता
है।
चरण (Steps) है:
1. Display Properties विंडो को खोलो।
2. Appearance Tab पर click करो।
3. विंडोज और बटन स्टाईल, Colour scheme, और फॉण्ट साईज को बदलो।
4.बदलावों को लागू करने के लिए OK बटन पर click करो।
सैटिंग विकल्प [Setting Option]
सैटिंग टेब का उपयोग स्क्रीन विनियोजन (Screen Resolution) और Colour Quality सेट करने मे होता है। स्क्रीन का विनियोजन (Resolution) कम्प्यूटर में स्थापित (Installed) Display Adapter पर निर्भर करता है।
टिप्पणी: सैटिंग विकल्प का उपयोग स्क्रीन विनियोजन (Screen Resolution) और Colour Quality सेट करने मे होता है।
चरण (Steps) है :
1. Display Properties विंडो को खोलो।
2. Setting Tab पर click करो ।
3. स्क्रीन विनियोजन (Screen Resolution) और Colour quality को बदलो।
4. बदलावों को लागू करने के लिए OK बटन पर click करो।
प्रिन्टर [Printers ]
कन्ट्रोल पेनल मे जब आप Printers and Faxed विकल्प पर click करते हो, आपको स्थापित (Installed) प्रिंटर्स के icons की एक सूची दिखाई देगी जैसा कि चित्र  में दिखाया गया है।
Default प्रिन्टर पर एक चिन्ह दिखाई देगा। एक प्रिन्ट की Properties बदलने के लिए, या देखने के लिए Printer Icon पर Right click करो और Popup मैन्यु से Properties का चुनाव करो। आप विभिन्न प्रिन्टर Properties जैसे सामान्य (General), sharing, and Ports को परिभाषित (Define) कर सकते हो।
नया प्रिन्टर जोड़ना या स्थापित करना (To Add or Install new Printer)
आप विंडो में आसानी से एक नया प्रिन्टर स्थापित (Install) कर सकते हो। जब आप नये प्रिन्टर को कम्प्यूटर से connect करते हो और स्विच आन करते हो, विंडो नया हार्डवेयर पाने का एक संदेश दिखाएगी। आप सिर्फ प्रिन्टर ड्राईवर की CD को इन्सर्ट करो और यह स्थापित (Installed) हो जाएगा।
Manually नये प्रिन्टर को स्थापित (Install) करने के चरण है:
1. स्टार्ट कंट्रोल पेनल और प्रिन्टर और फैक्स पर click करो प्रिन्टर और फैक्स डायलॉग बाक्स दिखाई देगा जैसा कि चित्र  में दर्शाया गया है।
2. प्रिन्टर Task मे से Add a printer पर click करो Add Printer Wizard स्क्रीन पर दिखाई देगा। Add Printer Wizard के निर्देशों का अनुसरण (Follow) करो विजार्ड आपको नये प्रिन्टर को  सिस्टम में स्थापित (Install) करने में सहायता करेगा।
Read also
श्रेणी: Computer

0 टिप्पणियाँ

प्रातिक्रिया दे

Avatar placeholder

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.